धोनी और सुरेश रैना के सन्यास के फैसले को उचित कहते हुए bca के पूर्व सचिव रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि उनका यह निर्णय सही समय पर आया है, जब वो अच्छा प्रदर्सन करते हुए क्रिकेट को अलविदा कह रहे हैं, युवा खिलाड़ियों को मौका देने के लिए उनका निर्णय स्वागत के योग्य है,
श्री प्रसाद ने कहा कि किसी भी खिलाड़ी के लिए सन्यास की घोषणा करना बहुत कठिन कार्य होता है पर एक न एक दिन तो ये करना ही पड़ता है, माही एक महान खिलाड़ी के साथ ही साथ एक अच्छे ब्यक्ति भी है, आने वाले लंबे समय तक उनकी कमी भारतीय टीम को खलेगी, उन्होंने जो योगदान भारतीय क्रिकेट को दिया है वो अभूतपूर्व है।
बताते चलें कि धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम एशिया कप, t20 वर्ल्ड कप और एकदिवसीय वर्ल्ड कप तीनों जीती है। उनके सन्यास की घोषणा पर पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और कमेंटेटर सुरेश मिश्र ने कहा कि वो अचंभित है कि माही जो अभी अच्छा खेल रहे थे वो सन्यास ले लिए, पर हैरत में डालना ही माही का दूसरा नाम है, उनके अलावे पूर्व रणजी खिलाड़ी देवेश चंद्रा, bca डिस्टिक रिब्यू कमिटी के चेयरमैन और पूर्व खिलाड़ी सौरव चक्रवर्ती, पूर्व फ़ास्ट बोलर प्रदीप सिंह bca के मीडिया मैनेजर संतोष झा आदि ने भी इसे भारतीय क्रिकेट के लिए छति बताया है, सौरव चक्रवर्ती ने कहा कि इस ipl में माही और रैना को ऐसा खेलना होगा कि उनकी छवि में चार चांद लग जाए