COVID-19 के चलते भारत समेत कई देशों में लॉकडाउन में कई लोगों की ज़िन्दगी में बदलाव आ गया, लोगों के बीच इंटरनेट और डिजिटल माध्यम का उपयोग काफी बढ़ गया, इसी से जुड़ी कुछ नयी बातें सामने आयी हैं, और उनमें से एक है झारखण्ड की उपराजधानी दुमका में फिल्ममेकिंग का बढ़ना ।

हाल ही में यहाँ फ़िल्मकिंग की पढ़ाई शुरू हुई है, जिसमें डाक्यूमेंट्री फिल्म्स और संताली म्यूजिक – वीडियो एल्बम प्रोडक्शन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, जिसमें स्क्रिप्टिंग, डायरेक्शन, सिनेमेटोग्राफी और वीडियो एडिटिंग की कांसेप्ट, थ्योरी और प्रैक्टिकल्स के क्लासेज और वर्कशॉप दिए जा रहे हैं ।

इन सब के पीछे सत्यजीत शर्मा हैं, जो स्वयं एक सफल डॉक्युमेंटरी फिल्ममेकर है, जिन्होंने अंतररास्ट्रीय स्तर के टीवी चैनल नेशनल जियोग्राफिक, MTV इत्यादि के अलावा भारत के राष्ट्रीय टीवी चैनल दूरदर्शन के कई सारे प्रोग्राम पर काम का अनुभव है । इसके अलावा पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के फिल्ममेकिंग में भी करीब दो दशक से ज्यादा का अनुभव है, जिनमें अनगिनत छोटे-बड़े प्रोग्राम का हिस्सा रेहते हुए अपने काम के व्यस्तता से कुछ समय निकल कर अब ये झारखंड के लोगों को फिल्ममेकिंग की कला सीखा रहे हैं । ये दुमका और झारखण्ड के लिए एक बड़ी उपलब्धि है ।

सत्यजीत शर्मा फिल्मस (Satyajit Sharma Films) के अंतर्गत “जिंजर डिज़ाइन ” के पढ़ने वाले छात्र काफी उत्साहित हैं और अब यहाँ एक अच्छे स्तर की डाक्यूमेंट्री फिल्म्स और क्षेत्रिए भाषा संताली म्यूजिक वीडियो का प्रोडक्शन तेज हो गया है । प्रतिभाशली छात्रों को अब काफी मौका मिल रहा है जिसमें छात्र वीडियो शूटिंग और वीडियो एडिटिंग का प्रैक्टिकल सिख कर अपने प्रतिभा को सबके सामने ला रहे हैं और यूट्यूब चैनल पर अपने वीडियो को अपलोड कर लोगों के बीच अपनी पहचान बना रहे हैं । बदलते हुए ग्लोबल एनवायरनमेंट और रोज़गार के कंडीशन को देखते हुए आत्मा निर्भरता और बढ़ते हुए यहाँ के लोग अब फिल्ममेकिंग और डिजिटल माध्यम को सिख रहे और अपना भी रहे हैं ।